भारतीय राष्ट्रीय ग्रंथसूची

भारतीय राष्ट्रीय ग्रंथसूची (आई एन बी) की परिकल्पना भारत की 14 प्रमुख भाषाओं में (अंग्रेजी सहित) वर्तमान प्रकाशित पुस्तकों की एक सठिक, व्यापक और अधिकृत ग्रंथसूची का संकलन और प्रकाशन करना है, जो ‘पुस्तक और समाचार-पत्र प्रदान (सार्वजनिक पुस्तकालय) अधिनियम, 1954’ प्रावधान के अंतगर्त राष्‍ट्रीय पुस्‍तकालय, कोलकाता में प्राप्‍त पुस्तकों के आधार पर बनायी जाती है।

भारतीय राष्ट्रीय ग्रंथसूची की उपयोगिता:

  • देश की बौद्धिक और सांस्कृतिक संपत्ति का स्थायी अभिलेख
  • अंग्रेजी सहित भारत की प्रमुख 14 भाषाओं का ग्रंथ सूच्यात्मक डाटा एक ही स्थान पर उपलब्ध
  • किताबों और प्रकाशकों के लिए व्यापक प्रचार माध्यम
  • विषय ग्रंथसूची और पुस्तक के आंकड़ों के संकलन के लिए स्रोत सामग्री
  • पुस्तकाध्यक्षों और पुस्तक विक्रेताओं के लिए पुस्तक चयन माध्यम
  • पुस्तकालय कर्मियों के लिए वर्गीकरण, सूचीकरण आदि में मार्गदर्शक

भारतीय राष्ट्रीय ग्रंथसूची : वर्गीकृत विभाग:

भारतीय राष्ट्रीय ग्रंथसूची में संकलित प्रविष्टियों का क्रम डेवी डेसीमल पद्धति (22 वां संस्करण) के विषय वर्गीकरण अनुसार वर्गीकृत अनुक्रम के आधार पर किया जाता है । संबंधित कोलन वर्गीकरण (छठा संस्करण) प्रत्येक प्रविष्टि के नीचे दाएं कोने में दिया जाता है। विषय शीर्षक के लिए श्रृंखला पद्धति का उपयोग किया जाता है। यदि एक से अधिक प्रविष्टियां एक ही वर्गीकरण संख्या के अंतर्गत आती हैं, तो प्रविष्टि लेखक के नाम की वर्णमाला के अनुसार क्रमबद्ध की जाती है। यदि विशिष्ट वर्गीकरण के अंतर्गत एक ही लेखक की एक से अधिक प्रविष्टियां अभिलिखित होती है, तो लेखक के नाम की पुनरावृत्ति के बजाय प्रविष्टियों को विशिष्ट डेवी डेसीमल वर्गीकरण संख्या के तहत पुस्तकों के शीर्षक द्वारा क्रमबद्ध किया जाता है।

भारतीय राष्‍ट्रीय ग्रंथ सूची: लेखक और विषय सूची :

इस विभाग में, प्रविष्टियों को वर्णानुक्रम के आधार पर क्रमबद्ध किया जाता है। जब पुस्तक के लेखक का नाम परिचित हो, तब उसे लेखक और विषय सूची का उपयोग करके पता लगाया जा सकता है। यदि सूची प्रविष्टि में पर्याप्‍त जानकारी न हो और अधिक जानकारी की आवश्‍यकता हो, तो उसे लेखक सूची - प्रविष्टि के अंत में दी गई वर्ग संख्‍या की सहायता से वर्गीकृत विभाग में देखा जा सकता है।

भारतीय राष्‍ट्रीय ग्रंथ सूची: विषय सूची:

किसी विशेष विषय में पुस्तकों की जानकारी के लिए विषय सूची की सहायता से निर्दिष्ट विषय को आवंटित डेवी डेसीमल वर्गीकरण संख्या के माध्यम से वर्गीकृत विभाग में निर्देशित प्रविष्टियों का संदर्भ लिया जा सकता है। उदाहरण के लिए, विषय सूची में भारत शीर्षक के अंतर्गत भारत से संबंधित समस्‍त विषयों को एक साथ संदर्भित किया गया है।